बुधवार, 17 अगस्त 2022

सुंदर पिचाई की जीवनी और अनमोल विचार - Sundar Pichai

         सुंदर राजन पिचाई का जन्म 12 जुलाई 1972 में तमिल नाडु की राजधानी चेन्नई में  एक तमिल परिवार में हुआ था। उनके पिता का नाम रघुनाथ पिचाई और माता का नाम लक्ष्मी है। सुन्दर के पिता रघुनाथ पिचाई ब्रिटिश कंपनी ‘जनरल इलेक्ट्रिक कंपनी’ (जी.इ.सी.) में वरिष्ठ इलेक्ट्रिकल इंजिनियर थे और कंपनी के इलेक्ट्रिकल पुर्जे बनाने वाली एक इकाई का प्रबंधन देखते थे। सुंदर का बचपन मद्रास के अशोक नगर में बीता।। 

        सुन्दर पिचाई ने अशोक नगर स्थित जवाहर विद्यालय से कक्षा 10 तक की पढ़ाई की और फिर आई.आई.टी. चेन्नई में स्थित वना वाणी स्कूल से 12वीं की पढ़ाई की। इसके बाद सुन्दर ने आई.आई.टी. खरगपुर में दाखिला लिया और मेटलर्जिकल इंजीनियरिंग में डिग्री हासिल की। आई.आई.टी. खड़गपुर में उनके प्राध्यापकों ने उन्हें स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय से पी.एच.डी करने की सलाह दी पर सुन्दर ने एम.एस और एम.बी.ए. किया। उन्होंने स्तान्फोर्ड विश्वविद्यालय से ‘मटेरियल साइंसेज एंड इंजीनियरिंग’ में मास्टर ऑफ़ साइंस किया और पेनसिलवेनिया विश्वविद्यालय के ‘व्हार्टन स्कूल’ से प्रबंधन (एम.बी.ए.) की शिक्षा ग्रहण की।

Google

        Google के CEO बनने से पहले Sundar Pichai McKinsey & company करके USA में कोई कंपनी थी वहाँ से काम करना शुरू किया। उसके बाद Applied Materials कंपनी में काम किया, फिर उसके बाद साल 2005 में Google join किया जब सुंदर पिचाई ने गूगल ज्वाइन किया था तब कुछ समय के पश्चात माइक्रोसॉफ्ट का कोई एक बड़ा अफसर था जो सुंदर पिचाई को अपने साथ काम करने के लिए दवाब डाल रहा था। क्योंकि माइक्रोसॉफ्ट का वो अफसर बहुत दिनों से सुंदर पिचाई पर अपनी नजर बनाए हुए रखा था।

        एक दिन Sundar Pichai को माइक्रोसॉफ्ट का वो अफसर ने कहा तुम मेरे लिए काम करो मैं तुम्हे अपने कंपनी माइक्रोसॉफ्ट का SEO बना दूंगा। सुंदर पिचाई ने उस वक्त कुछ नहीं कहा उसने कहा की मैं सोच कर बताऊंगा, उसके बाद Sundar Pichai Google के बड़े अफसर से जाकर कहा की मुझे माइक्रोसॉफ्ट कंपनी बुला रही है और वो मुझे अपने कंपनी का SEO भी बना रहे हैं। Google के अफसर को एक पल को लगा की Sundar Pichai झूट तो नहीं बोल रहा है, उसके बाद अफसर ने अपने बाकि करमचारियों से पता लगवाया कि सुंदर जी हमारे कंपनी के लिए कितना महतवपूर्ण है।

        जब Google के अफसर अपने सभी ऑफिसों के करमचारियों से ख़ुफ़िया तरीके से सुंदर पिचाई की बारे में अच्छे से जाना तो हैरान रह गए। बाकि के सभी करमचारियों ने कहा की Sundar Pichai के बिना कोई भी प्रोजेक्ट पूरा नहीं हो सकता है इसके बिना हर काम अधुरा रह जायेगा। Google कंपनी के पास उस वक्त लगभग 60 से 70 के आसपास ऑफिस थे जिसमे लगभग 1 लाख 30 हजार कर्मचारी काम करते थे। उसके बाद Google के अफसर को सुंदर पिचाई की अहमियत पता चली

        और उसके बाद उसे बाकायदा 2015 में बोनस के रूप में 50 मिलियन Doller (3 अरब 64 करोड़ 29 लाख 67 हजार रुपये) दिए। और कुछ समय पश्चात् ही साल 2015 के अंदर ही सुंदर पिचाई को Google का SEO बना दिया गया।

Google के CEO Sundar Pichai सुंदर पिचाई की जीवनी और अनमोल विचार  सुंदर पिचाई किस देश के हैं सुंदर पिचाई सैलरी इन इंडियन रुपया सुंदर पिचाई की सैलरी

    सुंदर पिचाई की जीवनी और अनमोल विचार - Sundar Pichai 

 1.जीवन में प्रतिकिया देने के बजाय जवाब देना सीखे।

2.यदि आप एक सच्चे लीडर हो तो आपको सिर्फ अपनी सफलता पर ध्यान देने के साथ दुसरो की सफलता पर भी ध्यान देना जरुरी है।

3.आप कुछ बार विफल हो सकते हैं, लेकिन यह ठीक है। आप कुछ सार्थक प्रयास करते हैं तो आप बहुत कुछ सीखते हैं।

4.एक व्यक्ति जो खुश है वह इसलिए नहीं कि उसके जीवन में सब कुछ सही है, वह खुश है क्योंकि उसके जीवन में हर चीज के प्रति उसका दृष्टिकोण सही है।

5.अपने सपनों को पाना और दिल की सुनना महत्वपूर्ण है। कुछ ऐसा करें जो आपको उत्साहित करे।

6.सम्मान के बैज के रूप में अपनी विफलता को पहने!

7.Google पर हमारे द्वारा किये गये कार्य के लिए हमारे पास एक महत्वाकांक्षी दृष्टिकोण है हम इसे अपनी भाषा में मून शॉट्स कहते है

8.अपनी सीमा से निकलकर आगे बढिए

9.मेरे मन में हर बार यही बात चोट करती है की भारतीय लोगो की आकांक्षाये बहुत ही अनूठी है और अपने आप में अद्वितीय भी है भले ही उनका उस पृष्ठभूमि से जुड़ाव नही होता है फिर भी वे बहुत ही अपेक्षा रखने वाले होते है

10.गूगल टीम को बहुत सारी स्वायत्ता है जिसमे हम जैसे लोग भी शामिल है

11.मेरे माता पिता ने वो सब किया जो हर भारतीय माता पिता अपने बच्चो के लिए करते है उन्होंने अपने जीवन में मेरे लिए बहुत कुछ त्याग किया है और अपनी आय का ज्यादा से ज्यादा हिस्सा अपने बच्चो की शिक्षा और भविष्य सुनिश्चित करने के लिए खर्च किया है जिससे उनके बच्चे शिक्षित हो सके

12.अपने सपने के लिए जियो और अपने दिल का सुनो, उन सभी कार्यो को अपना उद्देश्य बनाओ जो तुम्हे उसको करने के लिए उत्तेजित करे

13.यदि आप एक सच्चे लीडर हो तो आपको सिर्फ अपनी सफलता देखने के बजाय दुसरो की सफलता पर भी ध्यान देना जरुरी है

14.मोबाइल जगत में कई शकिशाली पुरुष और महिलाये कार्यरत है और मै भाग्यशाली हु की मै इस समूह का हिस्सा हु लेकिन मै ऐसा कभी नही सोचता की मै एक शक्तिशाली पुरुष हु

15.मै ऐसे उत्पादों को विकसित करने के प्रति सदा उत्साहित रहता हु जो की जीवन को बेहतर बनाता हो और खुद से उम्मीद करता हु ऐसा आने वाले दशको तक करता रहुगा

16.हो सकता है की आप असफल हो रहे है लेकिन यह ठीक है क्योकि आप सही प्रयास कर रहे है जिनसे आप बहुत कुछ सीखते है

17.मै गुप्त परियोजना पर काम करता हु जो हर दिन मेरे 24 घंटे में 4 घंटे और बढ़ा देता है यह सबकुछ टाइम मशीन जैसा है

18.यदि मैं अपने बच्चे के जन्मदिन को नहीं भूलूंगा, तो मैं चाहता हूं कि जब तक मैं इस बारे में कुछ नहीं करता, तब तक फोन मुझ पर चिल्लाता रहे।

19.मेरे पास एक गुप्त परियोजना है जो हमारे पास 24 घंटे हर दिन चार घंटे जोड़ती है। इसमें थोड़ा समय यात्रा शामिल है

20.एक नेता के रूप में, न केवल अपनी सफलता को देखना महत्वपूर्ण है, बल्कि दूसरों की सफलता पर ध्यान केंद्रित करना है।

21.अपने सपनों और दिल का पालन करना महत्वपूर्ण है। कुछ ऐसा करें जो आपको उत्साहित करे।

 22.कम्प्यूटिंग फोन से परे विकसित हो रहा है, और लोग इसे कई परिदृश्यों के संदर्भ में उपयोग कर रहे हैं, जैसा कि उनके टेलीविजन में हो सकता है, यह उनकी कार में हो, ऐसा कुछ हो जो वे अपनी कलाई पर पहनते हैं या यहां तक ​​कि कुछ और अधिक इमर्सिव हैं।


     कृपया इन Motivational Quotes in Hindi को आप बहुत ध्यान से पढ़िए और सफलता की ओर एक और कदम बढ़ा दीजिये - हमें आशा है कि आपको यह article बहुत  पसंद आया होगा सुंदर पिचाई की जीवनी और अनमोल विचार कैसा लगा कमेंट में जरुर बताये और इस शेयर भी जरुर करे.

    इस जानकारी में त्रुटी हो सकती है। यदि आपको सुंदर पिचाई की जीवनी और अनमोल विचार में कोई त्रुटी दिखे या फिर कोई सुझाव हो तो हमें जरूर बताएं।


अधिक पढ़ें :--