रविवार, 10 जुलाई 2022

आयुष्‍मान भारत योजना Ayushman Bharat Yojana

 
    हेलो दोस्तों आज हम देखेंगे भारत सरकार की एक महत्वाकांक्षी स्कीम आयुष्मान भारत योजना या प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना, भारत सरकार की एक स्वास्थ्य योजना है, जिसे 23 September, 2018 को पूरे भारत मे लागू किया गया था। इस योजना का उद्देश्य देश के गरीब और आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग के 10 करोड़ से भी ज्यादा परिवारों को स्वास्थ्य बीमा मुहैया कराना है। इस स्कीम के अंतर्गत भारत सरकार देश के गरीब लोगों को सालाना 5 लाख रुपये का बीमा कवर प्रदान करती है।आयुष्मान भारत योजना में आवेदन करना चाहते हैं, तो इसके लिए आपके पास आधार कार्ड, राशन कार्ड, मोबाइल नंबर, निवास प्रमाण पत्र आदि दस्तावेजों का होना जरूरी है। इस योजना को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 14 अप्रैल 2018 को भीमराव अम्बेडकर की जयन्ती के दिन झारखंड के राँची जिले से आरम्भ किया। 

आयुष्मान भारत योजना के मुख्‍य पहलू निम्‍नानुसार हैं:-
    

     योजना में सामाजिक, आर्थिक जाति जनगणना(SECC) में चिन्हित D-1 से D-7(D-6 को छोड़कर) वंचित श्रेणी के ग्रामीण परिवार सम्मिलित होंगे एवं चिन्हित व्‍यवसाय-आधारित शहरी परिवार सम्मिलित रहेंगे। साथ ही कुछ श्रेणियों के परिवार स्‍वत: ही समावेशित रहेंगे। आयुष्‍मान भारत मिशन के अंतर्गत प्रधानमंत्री राष्‍ट्रीय स्‍वास्‍थ्‍य सुरक्षा मिशन के तहत् सामाजिक आर्थिक जातिगत गणना (SECC) में चिन्‍हाकिंत लाभार्थियों के अतिरिक्‍त, म.प्र. शासन द्वारा यह निर्णय लिया गया है कि खाद्य सुरक्षा में प्रदाय पात्रता पर्ची एवं असंगठित क्षेत्र के मजदूरों को भी शामिल किया जावे। आगामी समय में अन्‍य योजनाओं के हितग्राहियों या समाज के अन्‍य वर्गों को भी इस योजना में शामिल किये जाने पर विचार किया जावेगा। 

कैसे पता चलेगा आपका आपका रजिस्ट्रेशन हो गया? 
    

    वर्ष 2011 की जनगणना में गरीबी रेखा से नीचे के लोगों को इसमें जगह मिलेगी। योजना में आपका नाम है या नहीं यह आप https://mera.pmjay.gov.in/search/login पर चेक कर सकते हैं। सबसे पहले आप इस वेबसाइट पर जाए। यहां होम पेज पर एक बॉक्स मिलेगा। इसमें मोबाइल नंबर डाले। उस पर ओटीपी आएगा। इसे डालते ही पता चल जाएगा कि आपका नाम इसमें जुड़ा है या नहीं। इसके अलावा आप 14555 और 1800111565 हेल्पलाइन नंबरों पर कॉल करके भी चेक कर सकते हैं.। लोग पास के अस्पतालों में जाकर भी यह पता कर सकते हैं कि उनको इस योजना का लाभ मिलेगा या नहीं। इस योजना के तहत मैटरनल हेल्थ और डिलीवरी की सुविधा, नवजात और बच्चों के स्वास्थ्य, किशोर स्वास्थ्य सुविधा, कॉन्ट्रासेप्टिव सुविधा और संक्रामक, गैर संक्रामक रोगों के प्रबंधन की सुविधा, आंख, नाक, कान और गले से संबंधित बीमारी के इलाज के लिए अलग से यूनिट होगी। बुजुर्गों का इलाज भी करवाया जा सकेगा।

Benefits and Features of Aapke Dwar Ayushman List 2021? 

    आइए अब हम, आप सभी को विस्तार से इसके तहत प्राप्त होने वाले लाभों व विशेषताओँ की पूरी जानकारी प्रदान करेंगे जो कि, इस प्रकार से है- आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थी आसानी से Official Website पर जाकर लिस्ट मे, अपना नाम देख सकते है और साथ ही साथ Family ID ( HH ) की जानकारी भी प्राप्त कर सकते है, इसके बाद आप इस वेबसाइट के माध्यम से सिर्फ अपने पंजीकृत / रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से लॉगिन करके सभी जानकारीयां प्राप्त कर सकते है, हम, आपको बता दें कि, हमारे सभी लाभार्थी बिना किसी समस्या के  सीधे इस वेबसाइट पर जाकर  ayushman card check व ayushman bharat states list को देख व डाउनलोड कर सकते है और

आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत रोग मुक्त भारत बनाने का संकल्प

     मान्यनीय प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी का यह संकल्प 2022 तक भारत रोग मुक्त बनाने का सबसे बड़ा संकल्प कर लिया है। भारत को डिजिटल इण्डिया बनाने का बहुत बड़ा संकल्प किया है। जिस हिसाब से इस योजना का प्रारूप बनाया गया है। इस योजना की मदद से गरीबों की जान नहीं जा पाएगी। संयुक्त राष्ट्र अमेरिका की सरकार ने अपने देश के 15 प्रतिशत स्वास्थ बीमा मुहैया किया तथा। वही पर भारत सरकार ने 40 प्रतिशत (बीपीएल) धारको को स्वास्थ बीमा कवर का मुहैया किया है।

आयुष्मान भारत योजना से गरीबों को लाभ 
    इस योजना के अंतर्गत 50 करोड़ गरीबों को लाभ मिलगा। और इलाज के लिए कही दूर जाने की जरूरत भी नहीं पड़ेगी। क्योंकि ग्रामीण स्तर में भी अस्पतालों की संख्या में बढ़ोत्तरी करायी जाएगी। क्योंकि भारत में गरीब लोग पैसा के कारण बड़ी बीमारियों का इलाज नहीं करा पाते है। जिसके कारण बहुत से गरीब की मृत्यु हो जाती है तो इस योजना से जुड़े हर गरीबों को हर तरह से लाभ और समस्यों से छुटकारा मिल सकेगा। इस योजना से खास कर टीवी जैसी बीमारियों से लड़ने की क्षमता हो गई है। टीबी मरीजों को फंड भी प्रदान किया जाएगा। भारत में प्रतिवर्ष 14% मरीजों की मृत्यु टीबी जैसी बीमारियों के कारण हो जाती है। भारत में लगभग प्रतिवर्ष 3000000 मरीज लोग अस्पताल में अपना पंजीकरण कराते है। आयुष्मान भारत योजना 2018 के अंतर्गत अब टीबी मरीजों को 6000 वार्षिक (500 रु. मासिक) की धनराशि सहायता के तौर पर प्रदान की जाएगी।


केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई जन आरोग्य योजना के बहुत लाभ है जिनमें से कुछ की जानकारी नीचे दी गई है:
  • प्रधानमंत्री जन अयोग्य योजना के अन्तर्गत लगभग 10 करोड़ परिवारों को इसका लाभ मिलेंगा।
  • इस योजना में लाभार्थी को पांच लाख का स्वास्थय बीमा प्रदान किया जायेगा।
  • इस योजना में दवाई की लागत, चिकित्सा आदि का खर्चा सरकार द्वारा प्रदान किया जायेंगा।
  • इस योजना में लगभग 1350 बीमारियों को शामिल किया गया है,
  • इस योजना का लाभ उठाने के लिए आवेदक को किसी भी प्रकार से पैसे देने की जरूरत नहीं पड़ेगे।
  • इस योजना का संचालन स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा किया जाता है।
  • इस योजना के माध्यम से गरीब परिवारों को बीमारी के चलते कोई भी खर्चा करने की जरूरत नहीं है। इस बीमा से उनके बीमारी का खर्च सरकार कवर करेंगी।
आयुष्मान भारत योजनाके अंतर्गत उपलब्ध कुछ मुख्य सुविधाएं
  • चिकित्सा परीक्षा, उपचार और परामर्श
  • पूर्व अस्पताल में भर्ती
  • चिकित्सा और चिकित्सा उपभोग वस्तुएं
  • गैर गहन और गहन देखभाल सेवाएं
  • नैदानिक और प्रयोगशाला जांच
  • चिकित्सा पटियारोपण सेवाएं
  • आवास लाभ
  • भोजन सेवाएं
  • उपचार के दौरान उत्पन्न होने वाली कॉम्प्लिकेशन का ट्रीटमेंट
  • अस्पताल में भर्ती होने के बाद 15 दिन तक पोस्ट हॉस्पिटलाइजेशन फॉलो अप
  • प्री एक्सिस्टिंग डिजीज कवर अप