गुरुवार, 2 जून 2022

संदीप माहेश्वरी के अनमोल विचार

 अरे मिलेगा भाई, इतना मिलेगा जितना तुम सपने में भी नहीं सोच सकते, पहले खिलाड़ी तो बनो, अपने खेल के पक्के खिलाड़ी..!! 


    संदीप माहेश्वरी का जन्म 28 सितम्बर 1980 को दिल्ली में हुआ था।  यह मिडिल क्लास फेमिली से तालुक रखते थे।  इनके पिता जी का नाम रूप किशोर माहेश्वरी और माता जी का नाम शकुंतला रानी माहेश्वरी है।  इनके पिताजी का एल्युमीनियम का बिज़नेस था।  संदीप माहेश्वरी के 10 th पास करने के बाद किसी कारणवश इनके पिताजी का एल्युमीनियम का बिज़नेस बंद हो गया था।  जिसके चलते परिवार की आर्थिक स्थिति ख़राब होने लग गयी थी।


1. “जब भी आपको लोग बोलने लग जाए की आप पागल हो गए क्या? तो आप समझ जाना आप सही रास्ते पर है।”

2. पैसा उतना ही ज़रूरी है, जितना कार में पेट्रोल, न कम, न ज्यादा..!!

3. जिस दिन आपने खुल करके अपनी ज़िन्दगी जी ली बस वही त्यौहार है, बाकी सब बस कैलेण्डर की डेट्स हैं..!!

4. जो मन करे वो करो… खुल के करो, क्योंकि ये दिन दुबारा नही आने वाला..!!

5. जिस क्षण आप खुद को महत्व देना शुरू कर देंगे दुनिया आपकी कदर करना शुरू कर देगी

6. आपको शक्तिशाली होना है इसलिए नहीं कि आप दूसरों को मारो पीटो बल्कि आपको मजबूत होना होगा ताकि दूसरे नहीं पीट सके

7. खुद पर शक करना बंद करो कड़ी मेहनत करो और इसे पूरा करो

8. यदि आप वास्तव में सफल होना चाहते हैं तो इस बात की चिंता करना बंद कर दें कि आप क्या प्राप्त कर सकते हैं और इस पर ध्यान केंद्रित करना शुरू करे कि आप क्या कर सकते हैं

9. सफलता हमेशा आपको प्राइवेट में गले लगाती है लेकिन असफलता हमेशा आपको जनता के बीच थप्पड़ मारती है यही जीवन है

10. जिस व्यक्ति ने अपनी आदत बदल ली है वह कल बदल जाएगा और जिसने अपनी आदत नहीं बदली वो कल भी वैसा ही रहेगा और उसके साथ कल भी वैसा ही होगा जैसा हमेशा होता आया हैं।

11. जिस व्यक्ति ने अपनी आदतें बदल लीं वो कल बदल जाएगा, और जिसने नहीं बदलीं, उसके साथ कल भी वही होगा जो आज तक होता आया है.

12. चाहे तालियां गूँजें या फीकी पड़ जाएँ, अंतर क्या है ? इससे मतलब नहीं है कि आप सफल होते हैं या असफल. बस काम करिये, कोई काम छोटा या बड़ा नहीं होता