गुरुवार, 2 जून 2022

एपीजे अब्दुल कलाम के अनमोल विचार और जीवनी Abdul Kalam Quotes and Biography in hindi

सपने वो नही है जो आप नींद में देखे, सपने वो है जो आपको नींद ही नही आने दे- एपीजे अब्दुल कलाम

अब्दुल कलाम जी का जन्म 15 अक्टूबर 1931 तमिलनाडु राज्य के रामेश्वरम में हुआ था। घर की आर्थिक हालात कमजोर होने की वजह से कलाम जी को अपनी शिक्षा जारी रखने के लिए अखबार बेचने का काम भी करना पड़ा। अब्दुल कलाम जी ने अपने देश भारत के लिए कई सारे मिसाइल बनाये, इस कारण अब्दुल कलाम जी को मिसाइल मैन के नाम से भी जाना जाता है और वों भारत के 11 वें राष्ट्रपति के रूप भी निर्वाचित हुए थे। उन्होंने बताया की जीवन में चाहे कैसी भी कठिन परिस्थिति क्यों न आये अगर आप उन्हे पूरा करने की ठान लेते है, तो आपको उन्हे पूरा करने से कोई रोक नही सकता। आज भी अब्दुल कलाम जी के विचार युवा पीढ़ी को आगे बढने के लिए बहुत प्ररित करते है

डॉ. कलाम एक बहुआयामी व्यक्तित्व के धनी हैं। वेशभूषा, बोलचाल के लहजे, अच्छे-खासे सरकारी आवास को छोड़कर हॉस्टल का सादगीपूर्ण जीवन, ये बातें उनके संपर्क में आने वाले प्रत्येक व्यक्ति पर एक सम्मोहक प्रभाव छोड़ती हैं। विज्ञान, प्रौद्योगिकी, देश के विकास और युवा मस्तिष्कों को प्रज्ज्वलित करने में अपनी तल्लीनता के साथ साथ वे पर्यावरण की चिंता भी खूब करते हैं, साहित्य में रुचि रखते हैं, कविता लिखते हैं, वीणा बजाते हैं, तथा अध्यात्म से बहुत गहरे जुड़े हुए हैं। डॉ. कलाम में अपने काम के प्रति जबर्दस्त दीवानगी है। उनके लिए कोई भी समय काम का समय होता है। वह अपना अधिकांश समय कार्यालय में बिताते हैं। देर शाम तक विभिन्न कार्यक्रमों में डॉ. कलाम की सक्रियता तथा स्फूर्ति काबिलेतारीफ है। ऊर्जा का ऐसा प्रवाह केवल गहरी प्रतिबद्धता तथा समर्पण से ही आ सकता है। डॉ. कलाम खानपान में पूर्णत: शाकाहारी व्यक्ति हैं। वे मदिरापान से बिलकुल परहेज करते हैं। उनका निजी जीवन अनुकरणीय है। डॉ. कलाम की याददाश्त बहुत तेज है। वे घटनाओं तथा बातों को याद रखते हैं।

                 


                                        एपीजे अब्दुल कलाम के अनमोल विचार

1.किसी को हरा देना बेहद आसान है लेकिन किसी को जीतना बेहद मुश्किल है।  

2.शिक्षण एक बहुत ही महान पेशा है जो किसी व्यक्ति के चरित्रक्षमताऔर भविष्य को आकार देता हैं अगर लोग मुझे एक अच्छे शिक्षक के रूप में याद रखते हैंतो मेरे लिए ये सबसे बड़ा सम्मान होगा।

3.तब तक लड़ना मत छोड़ो जब तक अपनी तय की हुई जगह पर ना पहुँच जाओयहीअद्वितीय हो तुम।4.ज़िन्दगी में एक लक्ष्य रखोलगातार ज्ञानप्राप्त करोकड़ी मेहनत करोऔर महान जीवन को प्राप्त करने के लिए दृढ रहो।

5.सफालता की कहानियां मत पढों उससे आपको केवल एक सन्देश मिलेगा, असफलता की कहानियां पढों उससे आपको सफल होने के कुछ विचार मिलेंगे।

6.जो अपने दिल से काम नहीं कर सकते वे हासिल करते हैंलेकिन बस खोखली चीजेंअधूरे मन से मिली सफलता अपने आस-पास कड़वाहट पैदा करती हैं।

7.जब तक भारत दुनिया के सामने खड़ा नहीं होताकोई हमारी इज्जत नहीं करेगा। इस दुनिया मेंडर की कोई जगह नहीं है। केवल ताकत ही ताकत का सम्मान करती हैं।

8. जिस दिन हमारे सिग्नेचर, ओटोग्राफ में बदल जाये मान लीजिये आप कामयाब हो गये।

9.मेरा विचार है कि छोटी उम्र में आप अधिक आशावादी होते हैंऔर आपमें कल्पनाशीलता भी अधिक होती हैइत्यादि। आप में पूर्वाग्रह भी कम होता हैं।

10.जब हम बाधाओं का सामना करते है, हम अपने साहस और फिर से खड़े होने की ताकत के छिपे हुए भण्डार को खोज पते है| जिनका हमें पता नही होता की वो है, केवल जब हम असफल होते है| तब एहसासा होता है, कि संसाधन हमेशा से हमारे पास थे| हमें केवल उन्हें खोजने, और अपने जीवन में आगे बढने की जरूरत होती है|

11.चलिए में एक लीडर को परिभाषित करता हूँ, उसमें एक दृष्टि और जूनून होना चाहिए| उसे किसी समस्या से डरना नही चाहिए, बल्कि उसे पता होना चाहिए की इसे हराना कसे है| सबसे जरूरी, उसे ईमानदारी के साथ काम करना चाहिए

12.जहाँ ह्रदय में सच्चाई होती है, वहां घर में सामंजस्य होता है| जब घर में सामंजस्य होता है, तब देश में एक व्यवस्था होती है| जब देश में व्यवस्था होती है, तब दुनिया में शांति होती है|

13.यदि चार बातों का पालन किया जाए, एक महान लक्ष्य बनाया जाए| ज्ञान अर्जित किया जाए, कड़ी मेहनत की जाए| और दृढ़ रहा जाए, तो कुछ भी हासिल किया जा सकता है|

14.मुझे पक्का यकीन है कि जब तक किसी ने नाकामयाबी की कड़वी गोली ना चखी हो, वो कामयाबी के लिए पर्याप्त महत्वाकांक्षा नही रख सकता

15.शिक्षाविदो को छात्रों के बीच जाचं की भावना रचनात्मक, उद्यमशीलता और नैतिक नेत्रत्व की क्षमता का निर्माण करना चाहिए, और उनका रोल माडल बनना चाहिएं|

16.कई सालों से मै उड़ पाने की उम्मीद को पाला है, किसी मशीन को स्ट्रेटोस्फियर के ऊपर और ऊपर जाते हुए सम्भलना मेरा सब से प्यारा सपना रहा है|

17.दुनिया की लगभग आधी आबादी ग्रामीण क्षेत्रों में रहती है, और ज्यादातर गरीबी की हालत में|मानव विकास में ऐसी असमानत अशान्ति की प्रमुख वजहों में से एक रही है, और विश्व के कुछ हिस्सों में हिंसा की भी|

18.मुझे बताईये, यहाँ का मिडिया इतना नकारात्मक क्यों है? भारत में हम अपनी अच्छाईयों, अपनी उपलब्धियों को दर्शाने में इतना शर्मिंदा क्यों होते है, हम एक महान राष्ट्र है| हमारे पास ढेरों सफलताओ की गाथाएं है, लेकिन हम उन्हें नही स्वीकारते| क्यों?

19.जब बच्चे 15 से 17 साल के होते है, तब वे तय करते है कि उन्हें डॉक्टर, इंजीनियर या राजनीतिज्ञ बनना है या मंगल ग्रह या चंद्रमा पर जाना है| ये वो समय होता है जब आप उनपर काम कर सकते है, आप उन्हें अपने सपनों को आकर देने में मदद कर सकते है|

        की ओर एक और कदम बढ़ा दीजिये - हमें आशा है कि आपको यह article बहुत  पसंद आया होगा एपीजे अब्दुल कलाम के अनमोल विचा कैसा लगा कमेंट में जरुर बताये और इस शेयर भी जरुर करे.

        इस जानकारी में त्रुटी हो सकती है। यदि आपको एपीजे अब्दुल कलाम के अनमोल विचार और जीवनी  में कोई त्रुटी दिखे या फिर कोई सुझाव हो तो हमें जरूर बताएं।

                                                  ***

-:Read More :-