गुरुवार, 9 जून 2022

बराक ओबामा जीवनी & अनमोल विचार

 ईश्वर को याद रखो और हमेशा सच बोलो।" - बराक ओबामा

        बराक ओबामा अमेरिका के 44 वें राष्ट्रपति और पहले अफ्रीकी-अमेरिकी कमांडर-इन-चीफ थे। उन्होंने 2008 और 2012 में दो कार्यकाल के लिए राष्ट्रपति रहे। केन्या और कंसास के माता-पिता के बेटे, ओबामा का जन्म और पालन-पोषण हवाई में हुआ। उन्होंने कोलंबिया विश्वविद्यालय और हार्वर्ड लॉ स्कूल से स्नातक किया, जहां वह हार्वर्ड लॉ रिव्यू के अध्यक्ष थे। इलिनोइस राज्य की सीनेट में सेवा देने के बाद, उन्हें 2004 में इलिनोइस का प्रतिनिधित्व करने वाला अमेरिकी सीनेटर चुना गया। उनकी और पत्नी मिशेल ओबामा की दो बेटियां, मालिया और साशा हैं।

        होनोलूलू में जन्में ओबामा किन्याई मूल के अश्वेत पिता व अमरीकी मूल की माता के संतान हैं। उनका अधिकांश प्रारंभिक जीवन अमरीका के हवाई प्रांत में बीता। ६ से १० वर्ष तक की अवस्था उन्होंने जकार्ता, इंडोनेशिया में अपनी माता और इंडोनेशियाई सौतेले पिता के संग बिताया। बाल्यकाल में उन्हें बैरी नाम से पुकारा जाता था। बाद में वे होनोलूलू वापस आकर अपनी ननिहाल में ही रहने लगे। १९९५ में उनकी माता का कैंसर से देहांत हो गया। ओबामा की पत्नी का नाम मिशेल है। उनका विवाह १९९२ में हुआ जिससे उनकी दो पुत्रियाँ हैं, ९ वर्षीय मालिया तथा ६ वर्षीय साशा। २ नवम्बर २००८ को ओबामा का आरंभिक लालन पालन करने वाली उनकी दादी मेडलिन दुनहम का 86 वर्ष की आयु में निधन हो गया।

        ओबामा हार्वड लॉ स्कूल से १९९१ में स्नातक बनें, जहाँ वे हार्वड लॉ रिव्यू के पहले अफ्रीकी अमरीकी अध्यक्ष भी रहे। उन्होंने दो लोकप्रिय पुस्तकें भी लिखी हैं, पहली पुस्तक ड्रीम्स फ्रॉम माई फादरः अ स्टोरी ऑफ रेस एंड इन्हेरिटेंस का प्रकाशन लॉ स्कूल से स्नातक बनने के कुछ दिन बाद ही हुआ था। इस पुस्तक में उनके होनोलूलू व जकार्ता में बीते बालपन, लॉस एंजलिस व न्यूयॉर्क में व्यतीत कालेज जीवन तथा ८० के दशक में शिकागो शहर में सामुदायिक आयोजक के रूप में उनकी नौकरी के दिनों के संस्मरण हैं। पुस्तक पर आधारित आडियो बुक को २००६ में प्रतिष्ठित ग्रैमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। उनकी दूसरी पुस्तक द ओडेसिटी ऑफ़ होप मध्यावधि चुनाव के महज़ तीन हफ्ते पहले अक्तूबर २००६ में प्रकाशित हुई। यह किताब शीघ्र ही सर्वाधिक बिकने वाली पुस्तकों की सूची में शामिल हो गई। पुस्तक पर आधारित आडियो बुक को भी २००८ में प्रतिष्ठित ग्रैमी पुरस्कार से नवाजा गया है। शिकागो ट्रिब्यून के अनुसार पुस्तक के प्रचार के दौरान लोगों से मिलने के प्रभाव ने ही ओबामा को राष्ट्रपति पद के चुनाव में उतरने का हौसला दिया।

बराक ओबामा राजनैतिक करियर 

        2004 में, ओबामा ने ध्यानपूर्वक अपने अभियान जो ल्ल्लिनोईस को यूनाइटेड स्टेट में सीनेट में लाने का था सीमाप्रांत प्रजातान्त्रिक पार्टी ने उन्हें जीत दिलाई। उनके मुलभुत भाषण ने राष्ट्रीय प्रजातान्त्रिक सम्मलेन को जुलाई में संबोधित किया, और उनके सीनेट के चुनाव को भी उनके भाषण ने संबोधित किया।

        उन्होंने अपने राष्ट्रपति पद का अभियान 2007 में शुरू किया और 2008 में उनके विरुद्ध उन्ही के पास की सहकर्मी हिलारी रोधम क्लिंटन थी। उनकी प्रजातान्त्रिक पार्टी के पर्याप्त प्रतिनिधि चुने गये थे जो उनके राष्ट्रपति पद के उम्मेदवार के लिए काफी थे। बाद में उन्होंने गणतांत्रिक उम्मेदवार जॉन मेकैन को प्रधान चुनाव में हराया और 20 जनवरी 2009 को उन्होंने अपने राष्ट्रपति पद का शुभारंभ किया।

        शुभारंभ के 9 महीनो बाद ओबामा को 2009 में नोबेल शांति पुरस्कार से नवाजा गया। उनके कार्यालय के 2 सालो में, ओबामा ने अर्थशास्त्र के कानूनों को प्रोत्साहन करने के लिए हस्ताक्षरित किया ताकि वे आसानी ने सबसे बड़ी आर्थिक मंदी से अमेरिका को छुड़ा सके और पुनर्निवेश एक्ट 2009 और टैक्स से राहत पा सके, उन्होंने कई कानूनों को बदला जैसे रोजगार निर्माण एक्ट 2010।

उन्होंने अपने पहले कार्यकाल में मरीज प्रोटेक्शन और उनकी ठीक तरह से सेवा करने का एक्ट जिसे “ओबामादेखभाल” भी कहा जाता हैं उसे पारित किया। और Dodd-Frank दिवार में सुधार किया साथ ही Consumer Protection Act में भी सुधार किये।

विदेशी निति में, ओबामा ने U.S मिलिट्री के इराक युद्ध में हस्तक्षेप को खत्म कर दिया, साथ ही अफगानिस्तान में U.S सैन्य दल को बढाया, नए हथियारों को अपनाया और रशिया के साथ इसका समझौता भी किया। उन्होंने मुअम्मर गद्दाफी के खिलाफ U.S मिलिट्री को लीबिया में शामिल किया, और उन्होंने इस तरह से अपनी मिलिट्री को आदेश दे रखे थे जिसके परिणाम स्वरुप ओसामा बिन लादेन मारा गया।

        जनवरी 2011 में, प्रजातान्त्रिक पार्टी के 63 सीट हरने के बाद, गणतांत्रिक पार्टी ने राष्ट्रपति भवन पर फिर से अपना कब्ज़ा कर लिया। कई दिनों तक राष्ट्र की कर्ज की सीमा बढाना या नहीं इस विषय पर वाद-विवाद और बहस के बाद, ओबामा ने बजट कण्ट्रोल एक्ट 2011 और अमेरिकन टैक्सपेयर रिलीफ एक्ट 2012 पर अपने हस्ताक्षर किये। Barack Obama को 2012 में पुनः राष्ट्रपति पद के लिए चुना गया, उन्होंने गणतांत्रिक उम्मेदवार मिट रोमनी को हराया था। और 20 जनवरी 2013 को अपने दुसरे कार्यकाल की शपथ ली।

        उनके दुसरे कार्यकाल के समय, सैंडी हुक एलीमेंट्री शूटिंग स्कूल को जवाब देते हुए ओबामा ने गन कण्ट्रोल से संबंधित घरेलु नीतियों को बढ़ावा दिया, और कई Lgbt अमेरिकान्स को उसमे शामिल होने कहा, और उन्होंने उच्च न्यायलय में राज्य के सुरक्षा संबंधी मैरिज एक्ट और राज्य स्तर पर सामान-सेक्स शादियों को अकानुनी तरीके से बैन किया।

        विदेशी नीतियों में, ओबामा ने U.S मिलिट्री को ये आदेश दिया की वे इराक में शामिल हो ताकि इस्लामिक राज्यों के 2011 में वहा से निकलने के बाद वे उनका फायदा उठा सके, और अफगानिस्तान के ऑपरेशन को खत्म कर के, क्यूबा के साथ U.S के अच्छे सम्बन्ध स्थापित कर सके।

        वकील के तौर पर अपने करियर की शुरुआत करने वाले बराक ओबामा अपनी काबिलियत के दम पर दुनिया के सबसे शक्तिशाली देश के राष्ट्रपति के पद पर आसीन हुए और उस दौरान भयानक आर्थिक मंदी से गुजर रहे देश का सकुशल नेतृत्व किया एवं बच्चों की शिक्षा, स्वास्थ्य समेत तमाम वित्तीय सुधार किए साथ ही विदेश नीति अपनाकर कई देशों के साथ अच्छे संबंध बनााए। 

        बराक ओबामा ने अपने जीवन में तमाम कष्टों और संघर्षों को झेलकर सफलता के इस मुकाम को हासिल कर लोगों के लिए मिसाल पेश की है। बराक ओबामा के जीवन से हर किसी को प्रेरणा लेने की जरूरत है।।

लेखन कार्य

        बराक हुसैन ओबामा ने दो लोकप्रिय पुस्तकें भी लिखी हैं, पहली पुस्तक 'ड्रीम्स फ्रॉम माई फादर', 'ए स्टोरी ऑफ रेस एंड इन्हेरिटेंस' का प्रकाशन लॉ स्कूल से स्नातक बनने के कुछ दिन बाद ही हुआ था। इस पुस्तक में उनके होनोलूलू व जकार्ता में बीते बालपन, लॉस एंजलिस व न्यूयॉर्क में व्यतीत कॉलेज जीवन तथा 80 के दशक में शिकागो शहर में सामुदायिक आयोजक के रूप में उनकी नौकरी के दिनों के संस्मरण हैं। पुस्तक पर आधारित ऑडियो बुक को 2006 में प्रतिष्ठित ग्रैमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। उनकी दूसरी पुस्तक 'द ओडेसिटी ऑफ़ होप' मध्यावधि चुनाव के महज़ तीन हफ़्ते पहले अक्तूबर, 2006 में प्रकाशित हुई। यह किताब शीघ्र ही सर्वाधिक बिकने वाली पुस्तकों की सूची में शामिल हो गई। पुस्तक पर आधारित ऑडियो बुक को भी 2008 में प्रतिष्ठित ग्रैमी पुरस्कार से नवाजा गया है। शिकागो ट्रिब्यून के अनुसार पुस्तक के प्रचार के दौरान लोगों से मिलने के प्रभाव ने ही ओबामा को राष्ट्रपति पद के चुनाव में उतरने का हौसला दिया।



1. अंत में, यह चुनाव क्या है? क्या हम सनकवाद की राजनीति या आशा की राजनीति में भाग लेते हैं?"

2.अगर आप अपनी मुठ्ठी खोलोगे, तो हम अपना हाथ आगे बढ़ाएंगे

3.अगर हम परिवर्तन के लिए दुसरे के आगे आने की उम्मीद करेंगे तो परिवर्तन नहीं आएगा, बल्कि हमें खुद को ही उसके लिए आगे आना होगा

4.अपनी असफलताओं को अपने आपको परिभाषित मत करने दो।

5.अल कायदा अभी भी एक खतरा है हम किसी तरह का ढोंग नहीं कर सकते हैं क्योंकि बराक हुसैन ओबामा राष्ट्रपति के रूप में चुने गए, अचानक सबकुछ ठीक होने जा रहा है


6.आज के श्रमिकों को प्रशिक्षण देना काफी नहीं है, हमें कल के श्रमिकों को भी तैयार करना होगा। ये सुनिश्चित करके कि हर बच्चे को विश्व-स्तरीय शिक्षा मिले

7.इंटरनेट का अपना स्वयं का आविष्कार नहीं हुआ। सरकारी शोध ने इंटरनेट को बनाया ताकि सभी कंपनियां इंटरनेट से पैसा कमा सकें। मुद्दा यह है, कि जब हम सफल होते हैं, हम अपनी व्यक्तिगत पहल की वजह से सफल होते हैं, लेकिन यह भी क्योंकि हम एक साथ काम करते हैं।

8.राष्ट्रपति के रूप में, मैं वाशिंगटन बेहतर काम करे इसके लिए प्रतिबद्ध हूँ और उन लोगों के विश्वास का पुनर्निर्माण करूं जिन्होंने मुझे यहाँ भेजा है।

9.संयुक्त राज्य अमेरिका इस्लाम के साथ युद्ध की स्थिति में, कभी नहीं रहा है और न ही रहेगा।

10.लोकतंत्र में एक नागरिक की भूमिका उनके वोट डालने के साथ ही समाप्त नहीं हो जाती है

11.आशा ही इस राष्ट्र का आधार है; यह विश्वास कि हमारा भाग्य हमारे लिए नहीं, बल्कि हमारे द्वारा लिखा जाएगा।

कृपया इन Motivational Quotes in Hindi को आप बहुत ध्यान से पढ़िए और सफलता की ओर एक और कदम बढ़ा दीजिये -

हमें आशा है कि आपको यह article बहुत  पसंद आया होगा बराक ओबामा के अनमोल विचार Barack Obama Great Quotes in Hindi कैसा लगा कमेंट में जरुर बताये और इस शेयर भी जरुर करे.

Read more....

पीवी सिंधु के अनमोल विचार PV Sindhu Great Quotes

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के अनमोल विचार Mahatma Gandhi Great Quotes

विवेक बिंद्रा के अनमोल विचार Vivek Bindra Great Quotes