बुधवार, 1 फ़रवरी 2023

अटल पेंशन योजना

            अटल पेंशन योजना प्रधानमंत्री द्वारा 9 मई, 2015 को आरंभ की गई थी। एपीवाई 18 से 40 वर्ष की आयु वर्ग के सभी बचत बैंक/डाकघर बचत बैंक खाताधारकों के लिए खुली है और चयनित पेंशन राशि के आधार पर अभिदान अलग अलग होता है। अभिदाताओं को 60 वर्ष की आयु पर गारंटीशुदा न्यूअनतम मासिक पेंशन 1000/- रूपये या 2000/- रूपये या 3000/- रूपये या 4000/- रूपये या 5000/- रूपये प्राप्त होगी। एपीवाई के अंतर्गत अभिदाताओं को मासिक पेंशन उपलब्धय होगी, और उसके पश्चा0त् उसके पति/पत्नि को प्राप्तग होगी और उनकी मृत्युप के पश्चाात्, अभिदाता की 60 वर्ष की आयु तक संचित समग्र पेंशन अभिदाता के नामिती को वापस कर दी जाएगी। न्यूलनतम पेंशन सरकार द्वारा गारंटीशुदा होगी अर्थात् यदि अभिदान के आधार पर संचित समग्र निधि निवेश पर अनुमानित रिटर्न की तुलना में कम है और न्यू नतम गारंटीशुदा पेंशन प्रदान करने के लिए अपर्याप्तर है तो केंद्र सरकार ऐसी अपर्याप्ता राशि के लिए वित्तप पोषण करेगी। वैकल्पिक रूप से निवेश पर प्राप्तस रिटर्न अधिक है तो अभिदाता को बढ़े हुए पेंशन संबंधी लाभ प्राप्तक होंगे।

            अभिदाता की असामयिक मृत्यु होने पर, सरकार ने अभिदाता के पति/पत्नि को अभिदाता के एपीवाई खाते में शेष बची अवधि के लिए, जब तक कि मूल अभिदाता 60 वर्ष की आयु पूरी न हो जाए, तक का विकल्प. देने का निर्णय लिया है। अभिदाता का पति/पत्नि अभिदाता के समान ही उसके पति/पत्नि की मृत्युय तक उसी पेंशन राशि को प्राप्तप करने का हकदार होगा। अभिदाता और उसके पति/पत्नि दोनों की मृत्युश के पश्चाभत्, अभिदाता का नामिती अभिदाता के 60 वर्ष तक की आयु तक संचित पेंशन लाभ को प्राप्त‍ करने का हकदार होगा। 31 मार्च, 2019 की स्थिति के अनुसार एपीवाई के अंतर्गत 6860.30 करोड़ रूपये के कुल पेंशन लाभ के साथ 149.53 लाख कुल अभिदाता नामांकित किए गए हैं।



पात्रता:

18-40 वर्ष की आयु के बीच के भारत के सभी नागरिकों के लिए लागू होगा।

आधार इसका प्राथमिक केवाईसी होगा।

यदि खाता खोलने के समय उपलब्ध नहीं है तो आधार विवरण बाद में जमा किया जा सकता है।

सभी बैंक खाताधारक एपीवाई में शामिल हो सकते हैं

कौन पात्र नहीं है?

निम्नलिखित व्यक्ति निम्नलिखित मानदंडों पर सरकार के योगदान के लिए पात्र नहीं हैं।

जो 01.04.2016 को या उसके बाद योजना में शामिल हुआ।

यदि वह आयकर दाता है।

यदि वह किसी सामाजिक सुरक्षा योजना अथवा कर्मचारी भविष्य निधि योजना के अंतर्गत रक्षित है।

प्रवासी भारतीय (एनआरआई) खाता खोलने हेतु पात्र नहीं हैं। यदि कोई भारतीय नागरिक एपीएस योजना के कार्यकाल के दौरान एनआरआई बन जाता है, तो खाता बंद कर दिया जाएगा और संपूर्ण योगदान और उन पर अर्जित प्रतिलाभ का भुगतान खाताधारक को कर दिया जाएगा।

एपीवाई खाता खोलने के लिए प्रक्रिया

बैंक शाखा/पोस्ट ऑफिस जहां व्यक्ति का बचत बैंक है को संपर्क करें या यदि खाता नही है तो नया बचत खाता खोलें

बैंक/डाकघर बचत बैंक खाता संख्या उपलब्ध करायें और बैंक कर्मचारियों की मदद से एपीवाई पंजीकरण फार्म भरें

आधार/मोबाइल नंबर उपलब्ध कराएं । यह अनिवार्य नहीं है, लेकिन योगदान के बारे में संचार की सुविधा हेतु प्रदान की जा सकती है।

मासिक/तिमाही/छमाही योगदान के हस्तांतरण के लिए बचत बैंक खाता/डाकघर बचत बैंक खाते में आवश्यक राशि रखना सुनिश्चित करें

पेंशन की आवश्यकता

एक पेंशन लोगों को एक मासिक आय प्रदान करता है जब वे कमाई नही कर रहे होते हैं।

उम्र के साथ संभावित कमाई आय में कमी

परमाणु परिवार का उदय - कमाउ सदस्य का पलायन

जीवन यापन की लागत में वृद्धि

दीर्घायु में वृद्धि

निश्चित मासिक आय बुढ़ापे में सम्मानजनक जीवन सुनिश्चित करता है

अन्य महत्वपूर्ण तथ्य

यह एपीवाई खाते में नामांकन विवरण प्रदान करना अनिवार्य है। यदि ग्राहक विवाहित है तो पति या पत्नी डिफ़ॉल्ट नामित होंगें। अविवाहित ग्राहक नामित के रूप में किसी भी अन्य व्यक्ति को मनोनीत कर सकते हैं पर शादी के बाद उन्हें पति या पत्नी की जानकारी प्रदान करनी होगी। पति या पत्नी और नामित के आधार की जानकारी प्रदान की जा सकती है।

एक ग्राहक केवल एक एपीवाई खाता खोल सकते हैं और यह अद्वितीय है। एकाधिक खातों की अनुमति नहीं है।

एक ग्राहक एक वर्ष के के दौरान एक बार पेंशन राशि को बढ़ाने या घटाने के लिए विकल्प चुन सकते हैं।

एपीवाई ग्राहकों को पीआरएएन की सक्रियता, खाते में शेष राशि, योगदान क्रेडिट आदि के बारे में एसएमएस अलर्ट के माध्यम से समय-समय पर जानकारी सूचित कर दी जायेगी। ग्राहक को साल में एक बार खाते का भौतिक विवरण भी दिया जाएगा।

एपीवाई का सालाना भौतिक विवरण भी ग्राहकों के लिए प्रदान किया जाएगा।

योगदान आवास/स्थान के परिवर्तन के मामले में भी ऑटो डेबिट के माध्यम से बिना रूकावट के प्रेषित किया जा सकता है।

योजना केवल भारतीय नागरिक के लिए ही है।

ग्राहक अप्रैल के महीने के दौरान एक वर्ष में एक बार ऑटो डेबिट सुविधा के मोड (मासिक/तिमाही/छमाही) को बदल सकते हैं।

अन्य सरकारी  योजना 


१. महात्मा ज्योतिबा फुले जन आरोग्य योजना

२.कर्मचारी राज्य बीमा निगम

३.प्रधानमंत्री आवास योजना

मंगलवार, 31 जनवरी 2023

अग्निपथ योजना

    भारतीय सेना में युवाओं को शामिल करने के लिए अग्निपथ योजना  की शुरुआत की गई है. यह एक सरकारी स्कीम  है, जिसके तहत आवेदकों को अग्निवीर पद के लिए भर्ती किया जाएगा. इस योजना के तहत केवल भारतीय सेना में ही नहीं, ​बल्कि एयरफोर्स और इंडियन नेवी में भी भर्ती की जाएगी. हालांकि इनकी भर्ती चार साल के लिए होगी और 4 साल बाद 75 फीसदी युवाओं को घर भेज दिया जाएगा और सिर्फ 25 फीसदी युवाओं को ही स्थायी भर्ती दी जाएगी.

    इस योजना का मुख्य उद्देश्य प्रदेश के युवाओं को 4 वर्ष के लिए सेना में भर्ती करना है। जिससे कि उन सभी देश के युवाओं का सपना पूरा हो सके जो सेना में भाग लेना चाहते हैं। इसके अलावा इस योजना के संचालन से देश की सुरक्षा को मजबूत बनाया जा सकेगा। Agneepath Yojana के अंतर्गत 4 वर्षों के लिए युवाओं की नियुक्ति की जाएगी  जिसमें उनको सेना की highskill training प्रदान की जाएगी। इस training के माध्यम से वह प्रशिक्षित एवं अनुशासित बन सकेंगे। यह योजना देश की बेरोजगारी दर को घटाने में भी कारगर साबित होगी। इसके अलावा देश के नागरिक इस योजना के संचालन से सशक्त एवं आत्मनिर्भर बन सकेंगे। इस योजना के संचालन से जवानों की औसतन उम्र घटकर 26 साल की हो जाएगी। इसके अलावा इन सभी युवाओं में से 25% नौजवानों को सेवा में रख भी लिया जाएगा।



अग्निवीरों को लाभ: 

सेवा के 4 वर्ष पूरे होने पर अग्निवीरों को 11.71 लाख रुपए का एकमुश्त 'सेवा निधि' पैकेज का भुगतान किया जाएगा जिसमें उनका अर्जित ब्याज शामिल होगा। 

उन्हें चार साल के लिये 48 लाख रुपए का जीवन बीमा कवर भी मिलेगा। 

मृत्यु के मामले में भुगतान न किये गए कार्यकाल के लिये वेतन सहित 1 करोड़ रुपए से अधिक की राशि होगी। 

सरकार चार साल बाद सेवा छोड़ने वाले सैनिकों के पुनर्वास में मदद करेगी। उन्हें स्किल सर्टिफिकेट और ब्रिज कोर्स (Bridge Courses) प्रदान किये जाएंँगे। 

अग्निपथ योजना विशेषताएं कुछ इस प्रकार है।

1. मेरिट के आधार पर देश भर से युवा इस योजना में शामिल होकर इसका हिस्सा बन सकेंगे।

2. इसमें जात-पात या धर्म के आधार पर आरक्षण की बातें नहीं की गयी।

3. इस योजना के जरिये भर्ती होने वाले सेना के जवान को अग्निवीर के नाम से जाना जाएगा।

4. चार वर्ष की सेवा के पश्चात 25 प्रतिशत अग्निवीरों को उनकी कौशलता के आधार पर स्थाई किया जाएगा।

5. स्थाई कैडर का हिस्सा बन जाने के पश्चात अग्निवीरों बाकी जवानो की ही तरह पेंशन और अन्य सुविधाएं मुहैया कराई जाएगी।

6. सेवा समाप्ति के पश्चात अग्निवीरों को उनकी कौशलता के अनुरूप स्किल सर्टिफिकेट दिया जाएगा। जो भविष्य में उनके लिए रोजगार के रास्ते खोलेगा।

7. रक्षा मंत्रालय और विभिन्न राज्यों द्वारा उनकी बहाली प्रक्रिया जैसे केंद्रीय बल, राज्य पुलिस बल इत्यादि में अग्निवीरों को तरजीह दी जाएगी।

8.सेवा के दौरान किसी प्रकार की अनहोनी होने की अवस्था को मद्देनज़र अग्निवीरों को 48 लाख रूपए का बिमा किया जाएगा। 

9. अग्निपथ स्कीम के तहत सेना के जवान अर्थात अग्निवीरों को भी उत्त्कृष्ट प्रदर्शन के एवज में गैलेंट्री अवार्ड से सम्मानित किया जाएगा। 


अन्य सरकारी  योजना 


१. महात्मा ज्योतिबा फुले जन आरोग्य योजना

२.कर्मचारी राज्य बीमा निगम

३.प्रधानमंत्री आवास योजना


रविवार, 29 जनवरी 2023

महात्मा ज्योतिबा फुले जन आरोग्य योजना

         महाराष्ट्र सरकार ने महात्मा ज्योतिबा फुले जन आरोग्य योजना को राज्य के गरीब और आर्थिक रूप से कमज़ोर नागरिको को मुफ्त इलाज प्रदान करने के माध्यम से शुरू किया है। अब इस योजना के लिए राज्य सरकार ने कुछ बदलाव किए है, महाराष्ट्र सरकार ने अब Mahatma Jyotiba Phule Jan Arogya Yojana के तहत राज्य के हर एक परिवार को लाभ देने के उदेश्य से इलाज की लागत को बढ़ाकर दो लाख रुपये कर दिया गया है जो पहले सरकार कके द्वारा 1.5 लाख रुपये थी और साथ ही जिसमें पहले 971 बीमारिया शामिल होती थीं, लेकिन इसके बाद अब सरकार ने 996 तरह के ऑपरेशन किए जाएंगे। MJPJAY Scheme के तहत पहले प्लास्टिक सर्जरी, हृदय रोग,  और कैंसर जैसी बीमारियों का मुफ्त इलाज किया जाता था, लेकिन अब सरकार के नए निर्देश अनुसार इन सभी में कुछ और ऑपरेशन भी शामिल किये गए हैं इस योजना में महाराष्ट्र में १००० से ज्यादा हॉस्पिटल है 



उम्मीदवारों को Mahatma Jyotiba Phule Jan Arogya Yojana का फॉर्म भरने के लिए कुछ जरूरी दस्तावेजों की आवश्यकता होगी। जिनके विषय में नीचे दी गयी जानकारी में बताया गया है –

लाभार्थी का आधार कार्ड

राशन कार्ड

            सरकारी डॉक्टर द्वारा दी गई बीमारी का प्रमाण पत्र इस योजना के तहत शहर के लाभार्थियों को अपने पास के सरकारी अस्पताल में चेकअप कराना होगा।महाराष्ट्र सरकार के अनुसा गांव के उम्मीदवारों को सरकारी स्वास्थ्य शिविर में जाना होगा और उनकी बीमारी की जांच करनी होगी।इसके बाद, आवेदक को अपनी बीमारी के विशेषज्ञ डॉक्टर के पास जाना होगा और चेकअप करवाना होगा।बीमारी की पुष्टि होने के बाद, बीमारी का विवरण और खर्चों का विवरण आरोग्य मित्र द्वारा दर्ज किया जाएगा।इस योजना के पोर्टल पर बीमारी, अस्पताल और डॉक्टर के खर्च का खर्च ऑनलाइन दर्ज किया जाएगा।इस प्रक्रिया को 24 घंटे के भीतर ही पूरा कर दिया जाता है।उसके बाद, रोगी का उपचार शुरू होगा और उपचार के दौरान बीमारी से संबंधित कोई खर्च नहीं लिया जाएगा।''

            महात्मा ज्योतिबा फुले जन आरोग्य योजना की शुरुआत वर्ष 2012 में महाराष्ट्र सरकार द्वारा की गयी थी। इस स्कीम का पहला फेज 2 जुलाई 2012 में शुरू किया गया था। उस वक्त इस योजना को राजीव गांधी जीवनदाई आरोग्य योजना के नाम से जाना जाता था। इसे तत्कालीन महाराष्ट्र स्वास्थ्य मंत्री सुरेश शेट्टी द्वारा लांच किया गया था। शुरुआत में महात्मा ज्योतिबा फुले जन आरोग्य योजना को महाराष्ट्र राज्य के कुल 8 जिलों में शुरू किया गया था लेकिन बाद में इसे फेज 2 के दौरान बाकि के 28 जिलों में भी लागू कर दिया गया। 1 अप्रैल 2017 में इस योजना का नाम बदलकर महात्मा ज्योतिबा फुले जन आरोग्य योजना कर दिया गया।  इस योजना से जुड़े अस्पतालों में सरकारी और निजी अस्पताल दोनों ही शामिल हैं। जो अस्पताल मल्टीस्पेशलिटी के लिए जाने जाते हैं वहां आईसीयू (कुछ छूट के साथ) के साथ कम से कम 30 बेड की शर्तें हैं। वहीँ दूसरी ओर सिंगल-स्पेशियलिटी हॉस्पिटल्स के लिए कम से कम 10 बेड और अन्य मानदंड लागू होंगे।

        जितने भी अस्पताल पैनल में हैं उन सभी अस्पतालों में आरोग्य मित्रों की नियुक्ति की जाएगी। जिनका उद्देश्य लाभार्थी की भर्ती होने में से लेकर इलाज तक में सहायता करना होगा और साथ ही उनके कागजातों की जांच आदि करके उनका पंजीकरण करना होगा। साथ ही ये जानकारी सीएमओ तक भी पहुचानी होगी।

महात्मा ज्योतिबा फुले जन आरोग्य योजना के हॉस्पिटल की लिस्ट कैसे देखे :- 

जैसे कि हम सभी जानते हैं कि इस योजना में लाभ लेने के लिए लाभार्थियों के लिए कुछ अस्पतालों को योजना के अंतर्गत पैनल/ पंजीकृत किया गया है।

गूगल में जाकर MJPJAY सर्च करना है 


इस योजना का लाभ कैसे ले :-

सबसे पहले आपको नज़दीकी अस्पताल जो इस योजना में शामिल हैं वहां जाना होगा।

इसके बाद आपको वहां उपस्थित महात्मा ज्योतिबा फुले जन आरोग्य योजना के आरोग्य मित्र से मिलना होगा।

आप अपने सभी दस्तावेज़ व अन्य कागज़ात आरोग्य मित्र को दे दें।

इसके बाद वो आपके सभी डाक्यूमेंट्स की जांच करेंगे।

जांच पूरी होने के बाद और सभी दस्तावेज़ ठीक होने के बाद आरोग्य मित्र मरीज़ का रजिस्ट्रेशन करेंगे।

उसके बाद आरोग्य मित्र द्वारा मरीज़ के सभी डाक्यूमेंट्स को सीएमओ के पास भेज देगा। उसके बाद मरीज़ अथवा लाभार्थी को अस्पताल में भर्ती कर लिया जाएगा।

इसके बाद अस्पताल में लाभार्थी के इलाज की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी।

इलाज के पूरे होने के बाद जब लाभार्थी को डिस्चार्ज कर दिया जाता है , उसके बाद भी वो 10 दिनों तक निशुल्क डॉक्टर से परामर्श ले सकता है। इसके साथ ही उसे दवाइयां भी निशुल्क ही अस्पताल से मिलती रहेंगी

महात्मा ज्योतिबा फुले जन आरोग्य योजना टोल फ्री नंबर क्या है ?
टोल फ्री नंबर – 155388/180023322200
पता – पो बॉक्स नंबर 16565, वर्ली पोस्ट ऑफिस, वर्ली, मुंबई 400018
वेबसाइट – www.jeevandayee.gov.in
राज्य के सभी नागरिक योजना से जुड़ी किसी भी प्रकार की सहायता के लिए दिए गए नंबर पर कॉल कर सकते है।

शुक्रवार, 27 जनवरी 2023

सूर्यकुमार यादव की जीवनी

      सूर्यकुमार यादव का जन्म 14 सितंबर 1990 को एक मध्यमवर्गीय परिवार के मुंबई शहर में हुआ और इनको बचपन से ही क्रिकेट और बैडमिंटन में काफी रूचि रही है।  यादव ने बचपन से ही क्रिकेट और बैडमिंटन में रुचि विकसित कर ली थी। उनके पिता बार्क में इलेक्ट्रिकल इंजीनियर की नौकरी के लिए गाजीपुर शहर से मुंबई आ गए। सूर्या ने वाराणसी की गलियों में खेलते हुए अपना हुनर ​​सीखा। 10 साल की उम्र में, उनके पिता ने खेल के प्रति उनके झुकाव को देखा और उन्हें अणुशक्ति नगर में बीएआरसी कॉलोनी में एक क्रिकेट शिविर में नामांकित किया। इसके बाद वे एल्फ वेंगसरकर अकादमी गए और मुंबई में आयु वर्ग क्रिकेट खेला। वह कला, वाणिज्य और विज्ञान के पिल्लई कॉलेज के पूर्व छात्र हैं।

7 जुलाई 2016 को यादव ने देवीशा शेट्टी से शादी की।



शिक्षा

सूर्यकुमार यादव ने अपनी प्रारम्भिक शिक्षा मुंबई ( महाराष्ट्र )में ही परमाणु ऊर्जा केंद्रीय विद्यालय से पूरी की है। इसके बाद सूर्य कुमार यादव ने आगे की पढ़ाई के लिए वो क्रमशः परमाणु ऊर्जा जूनियर कॉलेज, मुंबई (महाराष्ट्र) और फिर पिल्लई कॉलेज ऑफ आर्ट्स, कॉमर्स एंड साइंस, मुंबई में चले गए। सूर्य कुमार के पास वाणिज्य में स्नातक (बीकॉम) की डिग्री है।


बचपन से ही उनमें क्रिकेट और बैडमिंटन की रुचि रही है। लेकिन एक दिन उनके पिता ने उन्हें क्रिकेट या बैडमिंटन के बीच चयन करने के लिए कहा, ताकि वह 2 रास्तों में से एक का चयन कर सके, बहुत विचार-विमर्श करने के बाद यादव ने क्रिकेट का चयन किया।

सूर्यकुमार यादव के चाचा विनोद यादव उनके पहले क्रिकेट कोच थे।

जब वह 10 वर्ष के थे, तब उनका परिवार वाराणसी से मुंबई स्थांतरित हो गया था और उसी वर्ष, उन्होंने अपनी स्कूली टीम के लिए क्रिकेट खेलना शुरू किया था।

उन्होंने मुंबई स्थित दिलीप वेंगसरकर की ‘वेंगसरकर क्रिकेट अकादमी’ से क्रिकेट प्रशिक्षण प्राप्त किया।

वर्ष 2010 में, उन्होंने दिल्ली के खिलाफ प्रथम श्रेणी के सत्र में मुंबई के लिए खेलते हुए 89 गेंदों पर 73 रन बनाए थे।

वर्ष 2012 में, सूर्यकुमार पहली बार अपनी पत्नी देवीशा से आर. ए. पोडर कॉलेज ऑफ कॉमर्स एंड इकोनॉमिक्स, मुंबई में मिले। देवीशा सूर्यकुमार की बल्लेबाजी से काफी प्रभावित थीं, जबकि सूर्यकुमार देवीशा के नृत्य से प्रभावित थे।

उन्हें पहली बार वर्ष 2012 के आईपीएल सत्र में ‘मुंबई इंडियंस’ द्वारा खरीदा गया था, लेकिन उन्हें शायद ही कभी खेलने का मौका मिला, क्योंकि उन्होंने सचिन तेंदुलकर, रोहित शर्मा, महेला जयवर्धने और कीरोन पोलार्ड की अपेक्षा कम प्रभावित किया था।

वह अपने सिग्नेचर शॉट ‘स्वीप शॉट’ के लिए जाने जाते हैं। वह तेज गेंदबाजों के खिलाफ डीप स्क्वायर लेग पर छक्का लगाने का सामर्थ्य रखते हैं।

 इस जानकारी में त्रुटी हो सकती है। यदि आपकोजय सूर्यकुमार यादव की जीवनी में कोई त्रुटी दिखे या फिर कोई सुझाव हो तो हमें जरूर बताएं।

 

यह भी पढ़ें >

 

जीवनी और अनमोल विचार

फ्रेडरिक नीत्शे की जीवनी और अनमोल विचार

अमित शाह की जीवनी & अनमोल विचार 

किरण बेदी की जीवनी & अनमोल विचार

कपिल शर्मा की जीवनी & अनमोल विचार 

सर्वपल्ली राधाकृष्णन की जीवनी & अनमोल विचार 

अरविंद केजरीवाल की जीवनी और अनमोल विचार

अम्मा अमृतानंदमयी की जीवनी और अनमोल विचार

भगवन महावीर की जीवनी और अनमोल विचार-


मंगलवार, 4 अक्तूबर 2022

लक्ष्मी मित्तल की जीवनी और अनमोल विचार


     लक्ष्मी मित्तल एक भारतीय उद्योगपति और दुनिया के सबसे बड़े स्टील उत्पादक कंपनी आर्सेलर मित्तल के सीईओ और चेयरमैन हैं। हालांकि वे यूनाइटेड किंगडम में रहते हैं पर उन्होंने भारत की नागरिकता नहीं छोड़ी है। वे भारत के साथ-साथ दुनिया के सबसे अमीर व्यक्तियों में से एक हैं। पेशेवर इंग्लिश फुटबाल क्लब ‘क्वींस पार्क रेंजर्स फुटबाल क्लब’ में उनकी 33 प्रतिशत हिस्सेदारी है। सन 2007 में उन्हें यूरोप का सबसे अमीर हिन्दू और एशियन माना गया। सन 2002 में ब्रिटेन के आठवें नंबर का सबसे अमीर व्यक्ति होने के बावजूद वे ब्रिटिश नागरिक नहीं हैं। सन 2011 में फोर्ब्स ने उन्हें विश्व का छठा सबसे अमीर व्यक्ति माना था पर मार्च 2015 में वे बहुत नीचे गिरकर 82वें नंबर पर आ गए।

            सन 2008 से लेकर वे गोल्डमैन सैक्स के ‘बोर्ड ऑफ़ डायरेक्टर्स’ के सदस्य हैं। वे ‘विश्व स्टील संगठन’ के कार्यकारी समिति, भारतीय प्रधानमंत्री के ‘वैश्विक सलाहकार समिति’, कज़ाकिस्तान के ‘फॉरेन इन्वेस्टमेंट कौंसिल’, ‘वर्ल्ड इकनोमिक फोरम’ के अन्तराष्ट्रीय व्यापार समिति, और मोजांबिक के राष्ट्रपति के अन्तराष्ट्रीय सलाहकार बोर्ड के सदस्य हैं। वे अमेरिका स्थित केल्लोग्स स्कूल ऑफ़ मैनेजमेंट के सलाहकार बोर्ड और ‘क्लीवलैंड क्लिनिक’ के ‘बोर्ड ऑफ़ ट्रस्टीज’ के सदस्य हैं।

सन 2006 में ‘द सन्डे टाइम्स’ ने उन्हें ‘बिज़नस पर्सन ऑफ़ 2006’, ‘द फाइनेंसियल टाइम्स’ ने उन्हें ‘पर्सन ऑफ़ द इयर’ और ‘टाइम’ पत्रिका ने उन्हें ‘इंटरनेशनल न्यूज़मेकर ऑफ़ द इयर 2006’ का सम्मान दिया। सन 2007 में ‘टाइम’ पत्रिका ने उन्हें ‘दुनिया के 100 सबसे प्रभावशाली व्यक्तियों’ की सूची में रखा।

   लक्ष्मी मित्तल  का जन्म 2 सितम्बर 1950 को हुआ. वे 18-19 सालो में केंसिंग्टन पैलेस गार्डन में रहते थे जिसे उन्होंने 2004 में फार्मूला वन के मालक से लगभग 128 मिलियन US डॉलर में ख़रीदा था- उस समय वह विश्व का सबसे महंगा घर माना गया था. ताज महल को जीन संगमरमर के पत्थरो से सजाया गया है उन्ही पत्थरो से उनके पैलेस को भी सजाया गया है. उनकी संपत्ति और सबसे महंगे घर को देखते हुए उनके घर को “ताज मित्तल” भी कहा जाता था. उनके पैलेस में 12 बेडरूम्स, 1 अंदरूनी पूल, तुर्किश बाथरूम और 20 कारो के लिये पार्किंग की सुविधा थी. मित्तल लाक्टो-वेजिटेरियन है.

        बाद में मित्तल ने फिलीपींस के केंसिंग्टन गार्डन के नं. 9A पैलेस ग्रीन को ख़रीदा, उसे उन्होंने अपनी बेटी वनिशा मित्तल जिसका विवाह अमित भाटिया से हुआ था, उसके लिये 2008 में 70 मिलियन £ में ख़रीदा. उनका जवाई एक महान व्यापारी और मानव प्रेमी था. पूरी तरह से शाकाहारी होने की वजह से मित्तल ने अपनी बेटी के विवाह में “शाकाहारी रिसेप्शन” दिया था.

        मित्तल ने अपने केंसिंग्टन पैलेस गार्डन के पास ही लगभग 500 मिलियन £ की संपत्ति खरीद ली. उनकी संपत्ति को “करोडपतियो की कतार” भी कहा जाता है.

दिसम्बर 2013 को उनके भतीजी की शादी हुई, जिसका उन्होंने 3 दिनों का एक भव्य समारोह आयोजित किया कहा जाता है की उस समारोह का खर्चा लगभग प्रति मिनट का 50 पौंड था.

दुनिया की सबसे बड़ी स्टील कंपनी आर्सेलर मित्तल के सीईओ लक्ष्मी नारायण मित्तल उर्फ़ लक्ष्मी निवास मित्तल की गिनती दुनिया के सबसे अमीर लोगो में होती है. लक्ष्मी निवास मित्तल ब्रिटेन में रहते है लेकिन नागरिकता उन्होंने अभी भी भारत की बनाये रखी है. अपने व्यापार के अलावा लक्ष्मी मित्तल दुनिया के सबसे महंगे मकानों में रहने के लिये प्रसिद्ध है.

        लक्ष्मी मित्तल भारतीय मूल के उद्द्योगपति हैं और लंदन में रहते हैं. लक्ष्मी मित्तल विश्व के सबसे धनी भारतीय व्यक्ति हैं. लक्ष्मी मित्तल विश्व के 5वें सबसे धनी व्यक्ति हैं. मित्तल एल. एन. एम. नामक उद्योग समूह के मालिक हैं. यह समूह इस्पात का कारोबार करता हैं. लक्ष्मी मित्तल विदेश में रहते हुए भी भारत की नागरिकता ग्रहण किये हुए हैं. लक्ष्मी मित्तल बहुराष्ट्रीय स्टील कंपनी मित्तल स्टील के प्रमुख हैं जो पुरे विश्व में स्टील की विशालतम उत्पादक हैं.

        लक्ष्मी मित्तल ने अपने बिजनेस करियर की शुरुआत 26 वर्ष कि उम्र मे इंडोनेशिया से की। वहां 1976 मे उन्होंने अपनी पहली ‘स्टील इंटरनेशनल कंपनी’ की शुरुआत की। इसके बाद वर्ष 1989 मे उन्होंने त्रिनिदाद मे स्टील का काम शुरू किया और ‘मित्तल ग्रुप’ की अन्य दुसरी कंपनियों को मिलाकर ‘मित्तल स्टील कंपनी’ की शुरुआत की।

        वर्ष 1990 मे मित्तल परिवार ने भारत में परिसंपत्तियों के रूप में नागपुर में शीट स्टील्स की एक कोल्ड रोलिंग मिल और पुणे के पास एक एलाय स्टील सयंत्र कि स्थापना की थी। आज लक्ष्मी मित्तल के मुंबई स्थित विशाल इंटिग्रेटेड स्टील सयंत्र का संचालन उनके दोनों भाईयों द्वारा ही किया जाता है।


        अपने भाईयों के साथ कारोबारी बंटवारे के बाद उन्‍होंने मित्तल स्‍टील की शुरूआत की थी, और वे तब सुर्खियों में आए जब उनकी कंपनी ने वर्ष 2006 में फ्रांस की सबसे बड़ी स्‍टील कंपनी ‘आर्सेलर’ का अधिग्रहण किया। उस समय मे, पिछले एक दशक से चल रहे स्‍टील क्षेत्र में मंदी का असर मित्तल कि कंपनियों पर भी पड़ा। परंतु 4 साल के घाटे के बाद वर्ष 2016 में ‘आर्सेलर मित्तल’ ने 1.8 बिलियन डॉलर का लाभ अर्जित किया।


        अंतराष्टीय स्तर पर अपने व्यवसाय को बढ़ाने के लिए लक्ष्मी मित्तल ने कनाडा और जर्मनी की स्टील कंपनियों का अधिग्रहण किया। इसके बाद उन्होंने कजाकिस्तान के डोलर में ‘कार्मेट स्टील वर्क्स’ कंपनी को 400 मिलियन डॉलर मे खरीदा। कजाकिस्तान में खरीदे इस निवेश ने उन्हें अंतराष्ट्रीय स्तर पर पहुंचा दिया।
 
    वर्ष 1992 में लक्ष्मी मित्तल ने मेक्सिको की तीसरी सबसे बड़ी स्टील कंपनी ‘सिबाल्सा’ का 22 करोड़ डॉलर में अधिग्रहण किया, जिसे मेक्सिको कि सरकार ने 1982 में लगभग 2 अरब डॉलर में बनाया था।

        उसके बाद यह कंपनी 10 सालों में ही घाटे में जाने लगी, जिसके बाद लक्ष्मी मित्तल ने इस कंपनी को खरीदा और जल्द ही इसका उत्पादन कई गुना बढ़ा दिया। घाटे में जा रही इस मील को सस्ते में खरीद कर मुनाफे में बदलने की नीति मित्तल के बड़े काम आई। 



अनमोल विचार :-


1. व्यवसायिक जीवन में, सबसे पहले, आप जो कुछ भी कर रहे हैं उसके लिए आपको प्रतिबद्धता, समर्पण और जुनून की आवश्यकता होती है।
2.ज्ञान कुंजी है। आगे बढ़ने के लिए इस ज्ञान रूपी कुंजी का प्रयोग अवश्य करें।
3.साहसिक निर्णय एक बहुत ही परिवर्तनकारी निर्णय हो सकता है।  विश्लेषण करें और साहसिक निर्णय लें।
4.आर्थिक संकट के दौरान, हमेशा रोमांचक अवसर रहे हैं और ऐसा हमेशा होता रहेगा।
5.अपने आप को बाकी लोगो से अलग करो। भीड़ का हिस्सा मत बनो।
6.जब लोग देख सकते हैं कि उनके लीडर किस दिशा में जा रहे हैं तो उन्हें प्रेरित करना आसान हो जाता है।
7.हमेशा अपने दायरे के बाहर की चीजो के बारें में सोचें और दिखाई देने वाले हर अवसर को गले लगाओ, जहां भी वे हो सकते हो।
8.अपने जीवन में छोटे लक्ष्य निर्धारित करें, उन लक्ष्यों को पूरा करें, अनुभव प्राप्त करें, और फिर साहसिक निर्णय लेकर आगे बढ़ो।
9.अपने साम्राज्य को बनाने के लिए काम में आने वाले सफल फार्मूले को ढूंढें और उसे कार्यान्वित करें।
10.कड़ी मेहनत से निश्चित रूप से एक लंबा सफर तय करना पड़ता हैं। आजकल बहुत से लोग कड़ी मेहनत करते हैं, इसलिए आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि आप जो कड़ी मेहनत कर रहे हैं वो वास्तव में खुद को समर्पित कर पा रहे हैं? जो भी आप कर रहे हैं वह आपको आपकी मंजिल को पाने में मदद कर रही हैं।
  11.  यदि आप आगे बढ़ना चाहते हैं तो आपको आम लोगों से हटकर कुछ अलग करना होगा।
    12. व्यवसायिक जीवन में, सबसे पहले, आप जो कुछ भी कर रहे हैं उसके लिए आपको प्रतिबद्धता, समर्पण और जुनून की आवश्यकता होती है।
    ज्ञान कुंजी है। आगे बढ़ने के लिए इस ज्ञान रूपी कुंजी का प्रयोग अवश्य करें।
   13. साहसिक निर्णय एक बहुत ही परिवर्तनकारी निर्णय हो सकता है।  विश्लेषण करें और साहसिक निर्णय लें।
  14.  आर्थिक संकट के दौरान, हमेशा रोमांचक अवसर रहे हैं और ऐसा हमेशा होता रहेगा।
   15 हर किसी व्यक्ति को मुश्किल समय का सामना करता हैं, यह आपके दृढ़ संकल्प और समर्पण को नापने का एक तरीका भी हैं कि आप उस स्थिति के साथ कैसे निपटते हैं और आप उस मुश्किल समय को कैसे पीछे छोड़ सकते हैं।
15.हम लौह अयस्क के व्यवसाय में नही है, हमारे पास जो भी लौह अयस्क स्त्रोत है, हम उसका उपयोग स्टील बनाने में करते है| 

कृपया इन Motivational Quotes in Hindi को आप बहुत ध्यान से पढ़िए और सफलता की ओर एक और कदम बढ़ा दीजिये - हमें आशा है कि आपको यह article बहुत  पसंद आया होगा लक्ष्मी मित्तल की जीवनी और अनमोल विचार  कैसा लगा कमेंट में जरुर बताये और इस शेयर भी जरुर करे.

    इस जानकारी में त्रुटी हो सकती है। यदि लक्ष्मी मित्तल की जीवनी और अनमोल विचार  में कोई त्रुटी दिखे या फिर कोई सुझाव हो तो हमें जरूर बताएं।

यह भी पढ़ें >

 

जीवनी और अनमोल विचार

अमित शाह की जीवनी & अनमोल विचार 

किरण बेदी की जीवनी & अनमोल विचार

कपिल शर्मा की जीवनी & अनमोल विचार 

सर्वपल्ली राधाकृष्णन की जीवनी & अनमोल विचार 

अरविंद केजरीवाल की जीवनी और अनमोल विचार

अम्मा अमृतानंदमयी की जीवनी और अनमोल विचार

भगवन महावीर की जीवनी और अनमोल विचार

भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड में 141 पदों के लिए भर्ती

भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड  में 141  पदों के लिए भर्ती  आवेदन आमंत्रित किए हैं। जबकि इच्छुक उम्मीदवार  14-10-2022 तक आवेदन कर सकते हैं ब्भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड , की आधिकारिक वेबसाइट bel-india.in पर  जाकर अप्लाई कर सकेत हैं 

   ***

                                             https://www.hopehindi.com/2022/08/blog-post_18.html

पद :-   Trainee Engineer

रिक्त पदों की संख्या :141 पद

ऑनलाइन आवेदन करने की शुरु तिथि:- 01-10-2022
ऑनलाइन आवेदन करने की अंतिम तिथि:- 14-10-2022
आवेदन 14.10.2022 तक ऑनलाइन जमा किए जा सकते हैं।
 
  अधिक जानकारी के लिए कृपया मूल विज्ञापन डाउनलोड करें और पढ़ें

स्थान :पूरे भारत में





 इस पेज के ऊपर आपका स्वागत है यहाँ पे आप भारत में पब्लिश होने वाली सरकारी नौकरियों  के अलर्ट्स प्राप्त कर सकते हैं नीचे भारत में प्रकाशित सरकारी पदों  के लिए लेटेस्ट भर्तियों की लिस्ट है कृपया सभी जानकारियों को ध्यान से पढ़ें एवं अपने फ्रेंड्स को शेयर भी करें धन्यवाद ! 

                       अधिक जानकारी के लिए :- hopehindi.com


-:Read More :- 

             अधिक जानकारी के लिए :- सरकारी नौकरी पेज ऊपर देखे 

 मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग भर्ती Last Date 15.10.2022

भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण भर्ती

इंटेलिजेंस ब्यूरो भर्ती - IB Recruitment

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया भर्ती

तेलंगाना राज्य लोक सेवा आयोग भर्ती Last Date 15.10.2022

बैंक ऑफ इंडिया भर्ती

Eastern Railway Recruitment 2022

सशस्त्र सेना चिकित्सा सेवा भर्ती

कर्नाटक पोस्टल सर्कल भर्ती  

राष्ट्रीय आरोग्य अभियान अमरावती महाराष्ट्र में भर्ती  

नेवेली लिग्नाइट कॉर्पोरेशन लिमिटेड भर्ती

RITES Vacancy 2022 - रेल इंडिया टेक्निकल एंड इकोनॉमिक सर्विस भर्ती

जिला स्वास्थ्य (कर्नाटक) एवं परिवार कल्याण समिति भर्ती

अहमदाबाद (गुजरात) नगर निगम भर्ती

नासिक नगर निगम महाराष्ट् में मेडिकल ऑफिसर & स्वास्थ्य - कर्मी  पदों के भर्ती

जिला शिक्षा अधिकारी (DEO) ओडिशा भर्ती

गुजरात लोक सेवा आयोग भर्ती

NHM Recruitment -चंद्रपूर महाराष्ट्र

भारतीय तट रक्षक बल भर्ती

FCI Recruitment -2022 भारतीय खाद्य निगम

कर्नाटक लोक सेवा आयोग में भर्ती

तमिलनाडु शिक्षक भर्ती

इंटेलिजेंस ब्यूरो में 766 पदों के लिए भर्ती

असम लोक सेवा आयोग में 162 पदों के लिए भर्ती

भारतीय इस्पात प्राधिकरण लिमिटेड में 56 पदों के लिए भर्ती

सीमा सुरक्षा बल (BSF) में 323 पदों के लिए भर्ती

भारतीय इस्पात प्राधिकरण लिमिटेड में ( नर्स ) 56 पदों के लिए भर्ती

पंजाब पुलिस में 560 पदों के लिए भर्ती

भारत संचार निगम लिमिटेड में 100 पदों के लिए भर्ती 

झारखंड Staff Selection Commission में भर्ती

राजस्थान उच्च न्यायालयय में भर्ती

स्टाफ सिलेक्शन कमिशन (SSC) में भर्ती

बिहार संयुक्त प्रवेश प्रतियोगी परीक्षा बोर्ड में भर्ती

  असम लोक सेवा आयोग  में भर्ती 

 पिंपरी-चिंचवड़ (पुणे) नगर निगम में भर्ती

 LIC HFLमें  80  पदों के लिए भर्ती Last Date 25.08.2022

मध्यप्रदेश व्यापम में 2557 पदों के लिए भर्ती Last Date 23.08.2022

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग में भर्ती 

भारतीय सेना में भर्ती Indian Army Recruitment 

सीमा सुरक्षा बल भर्ती BSF Recruitment

HAL हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड में भर्ती

EPFO Recruitment - लेखा परीक्षक भर्ती

इंडियन रेल्वे कॅटरिंग & टुरिझम कॉर्पोरेशन में भर्ती

* ब्रॉडकास्ट इंजीनियरिंग कंसल्टेंट्स इंडिया लिमिटेड Recruitment

भारत-तिब्बत सीमा पुलिस बल Vacancy

BEL Vacancy भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड में भर्ती

IBPS बैंकिंग में प्रोबेशनरी अधिकारी 6432 पदों के लिए भर्ती

बिहार तकनीकी सेवा आयोग में ANM 12771 पदों के लिए भर्ती